साजिद अंसारी अपनी पत्नी सबिला बीवी के संग करेला की खेती कर आत्मनिर्भर हुए



फतेहपुर ब्लॉक से सटे हुए गांव खिजुरिया में कई बेरोजगार युवाओं ने करेला की खेती कर आत्मनिर्भर हुए,खिजुरिया के साजिद अंसारी नामक एक युवक ने अपनी पत्नी सबिला बिवी के सहयोग से 1 एकड़ से ज्यादा बंजर जमीन को खेती लायक बना कर करेला का सब्जी उगाया है।

साजिद अंसारी ने कहा कि हमें नहीं मालूम था कि अचानक लॉकडाउन होगा मैं पैशे से राजमिस्त्री का काम करता हूं मेरे तीन बच्चे हैं दो बच्चों को स्कूल के हॉस्टल में एडमिशन करवाया था,

और एक बच्चे को मदरसा पढ़ने के लिए भेजा था मेरे पास जो पैसे थे बच्चों के फीस जमा कर दिए थे लॉक डाउन हो जाने की वजह से काम कहीं मिल नहीं रहा था ऐसे में सोंचा के गुजर बसर करने के लिए खेती करना ही होगा पत्नी के सहयोग से बंजर जमीन को खेती लायक बनाकर करेला लगाया शुरू शुरू में ₹30 किले के भाव करेला बेच रहे थे अभी वर्तमान समय में थोड़ा कीमत कम हुआ है।

रोजाना 60 से 80 किलो करेला बेजता हूं अब तो बस इसी तरह खेती करने का ही इरादा है।

कहा करेला के बाद सरसों और गेहूं लगाएंगे लेकिन थोड़ी असुविधा पानी का लेकर है खेत में कुआं की आवश्यकता है इस संबंध में BDO को दरखास्त दिया है कुआं मंजूर हो जाने से बहुत सारे समस्याओं का समाधान हो सकता है।

साजिद अंसारी की पत्नी सबिला बीवी ने कहा पहले हम लोग इस तरह खेती करने में मेहनत नहीं करते थे हम लोग खेती करेंगे और बच्चों को खूब पढ़ाएंगे खेत में काम करने के लिए बहुत सारी कठिनाइयों को झेलना पड़ता है...।

No comments