मधुपुर महाविद्यालय के प्राचार्य द्वारा लिखित आश्वासन के बाद अभाविप ने महाविद्यालय का ताला खोला!



मधुपुर 16 सितंबर मधुपुर महाविद्यालय में 11 वीं कक्षा के नामांकन शुल्क बढ़ोतरी के खिलाफ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों ने मंगलवार को तालाबंदी कर विरोध जताया था। वही अभाविप  द्वारा  मधुपुर महाविद्यालय में  जारी इंटरमीडिएट में शुल्क वृद्धि के विरोध में  तालाबंदी को समाप्त कर ताला खोल दिया गया।  मधुपुर प्राचार्य द्वारा लिखित आश्वासन दिया गया है कि आगे 12वीं नामांकन के समय बढ़े हुए शुल्के  को समायोजित  कर के बराबर कर दिया जाएगा। जिसके बाद A.B.V.P ने तालाबंदी वापस ले लिया एबी  भीपी जिला संयोजक सौरभ पाठक  ने कहा कि कोरोना काल में देश में हर वर्ग आर्थिक स्थिति के दौर से गुजर रहा है बहुत लोगों की नौकरी व्यापार चली गई है।  ऐसे में छात्रों से इस मुश्किल समय में शुल्क बढ़ाकर लेना एक  अमान्य  कार्य है। एबीवीपी  देवघर जिला  से  लेकर पूरे राज्य स्तर पर शुल्क वृद्धि के खिलाफ आंदोलन चलाई है।  जिस के दरमियान मधुपुर में भी आंदोलन चला और प्राचार्य द्वारा  बुधवार  को शुल्क समायोजित कर नामांकन करने की बात  लिखित में देने के बाद तालाबंदी खोल दी गई। क्योंकि हमारा  मकसद  हमेशा छात्रों के हित में होता है और अभी के  दौर में गैर वाजिब शुल्क नहीं दी जाएगी। किसी भी कोरस  में  लिया गया  तो  एबीवीपी इसका विरोध करेगी।  मौके पर अंकित राठौर, हसन अंसारी, सद्दाम अंसारी, नीरज ठाकुर, सूरज मिश्रा, पिंटू दास,  चंदन यादव, हिमांशु शेखर तबरेज अंसारी, अभिषेक तिवारी, करण कुमार, अजय दास, रितेश यादव, विशाल यादव, विकास मंडल, सोनू शर्मा आदि उपस्थित थे! 

No comments