सावधानी और सतर्कता के साथ कोरोना के प्रति एक-दूसरे को करें जागरूकः-उपायुक्त



उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी श्री कमलेश्वर प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में जिला अन्तर्गत 7वॉ रैपिड एंटीजेन टेस्ट (RAT) ड्राईव चलाने हेतु की जा रही तैयारियों की समीक्षा बैठक समाहरणालय सभागार में आयोजित की गई। इस दौरान उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गई कि दिनांक-16.09.2020 को देवघर जिलान्तर्गत शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 7वॉ रैपिड एंटीजेन टेस्ट ड्राइव चलाया जाना है, जिसके तहत राज्य सरकार द्वारा देवघर जिलान्तर्गत इस ड्राइव हेतु 5000 का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। समीक्षा के क्रम में उपायुक्त ने सिविल सर्जन को निदेशित किया गया लोगों को कोरोना जांच हेतु जागरूक करने हेतु उपरोक्त टेस्ट ड्राइव हेतु सारी तैयारियों को पूर्ण करते हुए लक्ष्य की पूर्ति प्राप्त की जाय। साथ हीं इसको लेकर उपायुक्त ने प्रखण्ड स्तर पर सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को निदेशित किया गया है कि सभी प्रखण्ड चिकित्सा पदाधिकारी एवं संबंधित स्वास्थ्यकर्मी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी के साथ समन्वय स्थापित कर RAT ड्राइव को पूर्ण रूप से सफल बनायें। शहरी क्षेत्रों में RAT ड्राइव को सफल बनाने हेतु उपायुक्त ने सिविल सर्जन को निदेशीत किया की आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका एवं स्वास्थ्यकर्मियों के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा लोगो को जांच कराने हेतु प्रेरित किया जाय ताकि शहरी क्षेत्रो में भी अधिक संख्या में लोग की भागीदारी सुनिश्चित की जा सके। बैठक में सिविल सर्जन द्वारा जानकारी दी गई कि 7वॉ रैपिड एंटीजेन टेस्ट ड्राइव को सफल बनाने हेतु राज्य से पर्याप्त संख्या में रैपिड एंटीजेन टेस्ट किट मिल चुकी है जिसे शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में संबंधित डॉक्टरों एवं कर्मियों की बीच वितरण किया जा चुका है। इसके अलावा बैठक के दौरान उपायुक्त श्री कमलेश्वर प्रसाद सिंह ने ट्रुनेट के माध्यम से संक्रमित व्यक्तियों के जांच मामले में देवघर जिला की प्रगति को और भी बेहतर करने का निदेश सिविल सर्जन को दिया गया। आगे उन्होंने कहा कि रैपिड एंटीजेन टेस्ट, ट्रूनेट के अलावे आर०टी०पी०सी०आर० के माध्यम से भी लोगो की जांच की जाय एवं इस हेतु राज्य से समन्वय स्थापित करते हुए किट की उपलब्धता सुनिश्चित करा लें। साथ हीं उपायुक्त ने वैसे व्यक्ति जिनकी कोविड टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और वैसे सभी लोगों को कोविड केयर सेंटर में रखने के कार्यो की समीक्षा करते हुए सिविल सर्जन को निदेशित किया कि जिस भी व्यक्ति का कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आया है। उनको कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया जाय साथ ही जो होम आइसोलेशन में है। उन सभी पर समुचित निगरानी रखी जाय ताकि किसी भी संक्रमित व्यक्ति द्वारा किसी भी परिस्थिति में क्वारंटाइन नियमों का उल्लंघन न हो पायें। बैठक में उपायुक्त द्वारा देवघर जिला का रिकवरी रेट, आईसीयू बेड, वेंटीलेटर स्वास्थ्य सुविधा आदि की उपलब्धता को लेकर संबंधित अधिकारी को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया गया। बैठक में उपरोक्त के अलावे सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी श्रीमती अनिता कुजूर, एवं संबंधित विभाग के अधिकारी, चिकित्सक आदि उपस्थित थे।

No comments