पंचायत समिति सदस्य ने अन्य जनप्रतिनिधियों पर लगाया योजनाओं में धांधली का आरोप





उधवा/साहिबगंज: जनता को उनके अधिकार एवं गांव में की जा रही विकास कार्यों में प्रत्यक्ष रूप से भागीदार कर सके जिसके लिए योजनाओं का चयन एवं पारदर्शिता बनाने के लिए पंचायती राज की स्थापना की गई है। लेकिन योजना में मनमानी और धांधली पंचायतीराज से जुड़े जनप्रतिनिधियों एवं पदाधिकारियों के द्वारा किया जा रहा है। प्रावधान को ताक में रखकर योजना का क्रियान्वयन किया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रखंड क्षेत्र के पंचायत मध्य पियारपुर में वित्तीय वर्ष 2018-19 से लेकर 2020-21 में 14 वें वित्त योजना,मनरेगा सहित तमाम योजनाओं के तहत सड़क निर्माण किया गया है। जिसमें हन्नान शेख के घर से मस्जिद तक,रविऊल के घर से पोलाद शेख के घर तक साहिद शेख के घर से रविऊल शेख के घर तक अनसुर शेख के घर से कुदरत शेख के घर तक पीसीसी सड़क बनाया गया है।साथ ही वित्तीय वर्ष 2019-20 में बाढ़ में क्षतिग्रस्त सड़क को पांच पार्ट में सड़क मरम्मत की गई है डस्ट सह मोरम सड़क मरम्मत का कार्य किया गया है।लेकिन कार्य पूरा होने के बावजूद आजतक सूचना बोर्ड नहीं लगाया गया है। यह पंचायत के मुखिया,पंचायत सेवक, कनीय अभियंता की मनमानी और धांधली साफ झलकता है की किस तरह से प्रावधानों को अनदेखी की गई है। चूंकि मनरेगा सहित दूसरे सभी योजना में काम शुरुआत करने के पूर्व ही सूचनापट्ट लगाने का प्रावधान है। सूचना बोर्ड लगाए बिना ही योजना का कार्य कैसे शुरू किया गया,और कनीय अभियंता राशि का भुगतान किस आधार पर किया है यह जांच का विषय है। ज्ञात हो कि इस संबंध में पंचायत समिति सदस्य रुखसाना बीबी ने  16/01/2020 प्रत्रांक 33/2020 के द्वारा प्रखंड विकास पदाधिकारी राजेश एक्का से शिकायत कर जांच की मांग की गई थी, लेकिन इस विषय पर आजतक जांच नहीं की गई है।

क्या कहते हैं पंचायत के मूखिया:
इस संबंध में मध्य पियारपुर के मुखिया शाहजहां अली का कहना है कि सभी योजनाओं में प्रावधान के अनुरूप सूचना पट्ट लगाया गया है। सूचना पट्ट को ग्रामीण बच्चे सब तोड़ दिए हैं।

साहिबगंज से देव आर्यन की रिपोर्ट

No comments