देवघर शहरी श्रमिकों के लिए मुख्यमंत्री झारखंड सरकार द्वारा मुख्यमंत्री श्रमिक योजना का शुभारंभ किया गया


ब्यूरो रिपोर्ट।देवघर शहरी श्रमिकों के लिए  मुख्यमंत्री झारखंड सरकार द्वारा मुख्यमंत्री श्रमिक योजना का शुभारंभ किया गया। यह योजना झारखंड के सभी 91 नगर यह निकाय में क्रियान्वित की जाएगी। योजना के तहत शहरी अकुशल श्रमिक को एक साथ दोनों का गारंटी युक्त रोजगार उपलब्ध कराना है। इससे ना सिर्फ लोगों की आय में वृद्धि होगी बल्कि कोविड-19 के कारण दूसरे राज्यों से लौटे श्रमिक को स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध हो सकेगा। सभी विभागों से समन्वय स्थापित करते हुए मुख्यमंत्री श्रमिक योजना की रूपरेखा बनाई गई है। इस योजना अंतर्गत निकायों में रहने वाले श्रमिक लाभान्वित होंगे। इस योजना के क्रियान्वयन से शहरी और कुशल श्रमिक को रोजगार सृजन के साथ साथ शहरी आधारभूत संरचना के विकास ने भी सहयोग मिलेगा। इस योजना का फलाफल गरीब परिवार में खाध सुरक्षा पोषण एवं उनके जीवन में उत्तरोपन सुधार लाना और राज्य में शहरी गरीब के पलायन को रोकना।


रोजगार की इच्छा रखने वाले अनुकूल श्रमिक जॉब कार्ड बनाने एवं रोजगार की मांग हेतु समुदायिक हस्ताक्षर संयोजक से विकास केंद्र नगर कार्यालय से संपर्क कर तथा घर बैठे ऑनलाइन, ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। रोजगार की मांग से संबंधित आवेदन प्राप्त होने की तिथि से 15 दिन के अंदर नगर निकाय उन्हें रोजगार सुनिश्चित कर आएगा और यह रोजगार उनके निवास स्थान के आसपास ही उपलब्ध होगा।समय सीमा के अंदर रोजगार उपलब्ध नहीं होने की स्थिति में श्रमिक को दैनिक परिश्रमिक के रूप में बेरोजगारी भत्ता दी जाएगी।इस योजना के क्रियान्वयन के लिए राज्य सरकार के विभिन्न विभागों के बीच समन्वय के लिए अलग-अलग स्तर पर जिम्मेदारी तय की गई है। योजना मानक संचालन प्रक्रिया इस पत्र के साथ संचालन की जा रही है।


अनुबंध है कि झारखंड के शहरी स्थानीय निकायों में मुख्यमंत्री श्रमिक योजना में प्रभावी क्रियान्वयन हेतु आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

No comments