सत्ता पाने के लिए रोजगार देने का झूठा ढोल पीटकर आइ सरकार 8महिने मे अभी तक एक भी बहाली नही -अमृत मिश्रा



भाजपा देवघर नगर उपाध्यक्ष अमृत मिश्रा के  ने कहा कि चुनावी घोषणा पत्र में झारखंड मुक्ति मोर्चा ने वादा किया था कि हम हर साल 5लाख युवाओं को रोजगार देंगे या 72 हजार रुपए तक सालाना मदद देंगे।और पारा शिक्षक को परमानेंट करेगे लेकिन अाज  युवा निराश, हताश और ठगा महसूस कर रहा है। अाखिर 5000 और 7000 रु. सालाना देकर युवाओं को हेमंत सरकार क्यों मूर्ख बना रही है। उन्हाेने सवाल उठाया है कि क्या हेमंत सरकार प्रति वर्ष 5000 रुपया अर्थात 13.78 रुपए प्रतिदिन युवाओं को खैरात दे रही है।  5लाख युवा को रोजगार मिला क्या जिसका रोजगार था उसका भी रोजगार क्षिना  जा रहा है पुलिस कर्मियों पारा शिक्षक  किसान सभी त्रस्त है इस सरकार से अमृत मिश्रा ने मंगलवार काे बयान जारी कर कहा कि रघुवर सरकार ने झारखंड के युवाओं को कौशल विकास के माध्यम से प्रशिक्षित किया और प्राइवेट कंपनियों को बुलाकर 15 हजार से लेकर 30 हजार तक की नौकरी देने का काम किया था। तब विपक्ष में रहे यह झामुमाे और कांग्रेस ने कटाक्ष करते हुए कहा था कि 15 हजार रुपए प्रति माह में युवाओं को क्या होगा। अब युवा परेशान है कि 15000 के बदले गठबंधन सरकार सिर्फ 417 रु. और 583 रु प्रति माह देने की घोषणा की है। मिश्रा ने कहा कि युवाओं को रोजगार चाहिए। रघुवर दास की सरकार ने लाह की खेती, मधुमक्खी पालन, तसर पालन, मछली पालन, ऑर्गेनिक खेती आदि को प्रशिक्षित कर रोजगार देने का काम किया था, पलायन रोक था। हेमंत सरकार रोजगार तो छोड़ दिया जाए उन्हें 417 रुपए महीना देकर अपने आपको पीठ थपथपा रही है। एेसे मे यह सवाल है कि क्या कोरोना काल मे फिर से झारखंडी युवा को पलायन का दंश झेलना पड़ेगा। कहा कि युवाओं को रोजगार चाहिए ना कि बेरोजगारी भत्ता।झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस ने विपक्ष में रहते हुए झूठ बोलकर सत्ता प्राप्त की। इसी तरह स्थानीय नीति में संशोधन का वादा करके सत्ता में आई हेमंत सरकार ने विधानसभा में लिखित रूप से माना है कि स्थानीय नीति में कोई संशोधन नहीं होगा। जिस समय यह विपक्ष में थे तब स्थानीय नीति को आदिवासी मूलवासी विरोधी बताते थे और कहते थे सत्ता में आते के साथ पहले ही कैबिनेट में स्थानीय नीति में संशोधन किया जाएगा। अब इन्होंने यह सिद्ध कर दिया कि वे सत्ता में आने के लिए झूठ बोल रहे थे। झूठ की बुनियाद पर खड़ी कोई भी सरकार ज्यादा दिन नहीं टिक सकती। झारखंडी जनता के साथ धोखेबाजी करने के लिए झामुमो और कांग्रेस को सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए। जब से बनी है हेमंत सरकार तब से अभी तक एक भी विकास का काम देवघर सहित पुरे झारखंड मे नही हुआ है

No comments