साहेबगंज सदर अस्पताल में प्रसव के एक दिन के बाद ही बच्चे की मौत, परिजनों ने डॉक्टरों पर लगाया लापरवाही का आरोप

 


सदर अस्पताल साहिबगंज में प्रसव के 1 दिन बाद नवजात की हुई मौत



साहिबगंज:-सदर अस्पताल में जन्म के 1 ही दिन बाद नवजात की मौत हो गई।वही परिजनों ने डॉक्टर और नर्सो पर लापरवाही का आरोप लगाया है।सलमा बीवी  पति नासिर अहमद बरहेट सोनाजोरी के निवासी ने बताया की 4 अगस्त को सदर अस्पताल साहिबगंज में अपने बीवी सलमा  खातून का डिलीवरी के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। भर्ती होने के बाद डॉक्टरों द्वारा सभी जांच करने के बाद कोरोना जांच भी कराया गया लेकिन महिला को कोरोना रिजल्ट पॉजिटिव आई इसीलिए उन्हें अस्पताल परिसर के कोरोना वार्ड में एडमिट किया गया था ।वहीं परिजनों का आरोप यह है की कोरोना वार्ड में रखने के बावजूद भी डिलीवरी पेशेंट को एक बार भी किसी डॉक्टर ने आकर देखा तक नहीं 5 तारीख कि रात के 10:00 बजे महिला का  डिलीवरी होना था।जहां करोना के रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद किसी भी नर्सो ने हाथ तक नही लगाई महिला को सही वक्त पर डिलीवरी नहीं कराया गया वहीं परिजनों द्वारा हो हल्ला करने पर नर्सों ने पीपी किट पहनकर महिला का इलाज शुरू किया।वही 6 तारीख को सुबहनर्सों द्वारा सीजर करके महिला का डिलीवरी किया गया .डॉक्टरों की लापरवाही और विलंब के कारण बच्चे की डिलीवरी कराने में काफी देर की गई जिस  नतीजे पर बच्चा बेहोश पैदा हुआ और उस बच्चे को बेहतर इलाज के लिए आईसीयू  के लिए भेजा गया।लेकिन नवजात शिशु कोरोना काल महामारी में दुनिया मे नही आने से पहले से ही माँ के पेट मे ही मौत से लड़ते लड़ते शनिवार   सुबह शिशु की मौत हो गई।वही परिजनों ने बताया कि मां की तबीयत ठीक है गुरुवार की रात प्रसव कक्ष में स्त्री रोग विशेषज्ञ डा.माला कुमारी की डयूटी थी।वही डॉक्टर ने अपने ऊपर लगे आरोप को बेबुनियाद बतलाया है।



No comments