मधुपुर अनुमंडलीय अस्पताल में एमडीए कार्यक्रम के तहत एडमिनिस्ट्रेशन पर्यवेक्षकों को दिया गया प्रशिक्षणपर्यवेक्षक करेंगे प्रवेशक के कार्यों की निगरानी।




*एमडीए कार्यक्रम के तहत मधुपुर अनुमंडलीय अस्पताल में एडमिनिस्ट्रेशन, पर्यवेक्षकों को दिया गया प्रशिक्षण।


 *पर्यवेक्षक करेंगे प्रवेशक के कार्यों की निगरानी।


मधुपुर - गुरुवार को अनुमंडलीय अस्पताल सभागार  में एमडीए कार्यक्रम हेतु पर्यवेक्षकों को प्रशिक्षण दिया गया ।इस दौरान  बी डी प्रशिक्षक दल द्वारा मधुपुर अंतर्गत  कार्यक्रम  एमडीए अर्थात मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन के  पर्यवेक्षकों को विस्तार पूर्वक प्रशिक्षण प्रदान किया गया ,ताकि कार्यक्रम का सफल संचालन किया जा सके। प्रशिक्षण में एमटीएस तपन कुमार ने बताया कि कार्यक्रम  का आयोजन 10 अगस्त  से 30 अगस्त  तक किया जाएगा। जिसमें 10 ,11 एवं 12 को कार्यकर्ता बूथ पर लोगों को दवाई खिलाएंगे ,जबकि 13 से 20 तारीख तक कार्यकर्ता छूटे हुए व्यक्तियों को घर- घर जाकर दवाई खिलाएंगे कार्यक्रम में कार्यकर्ता के रूप में सेविका  सहिया सहायिका  वोलेंटियर आदि कार्य करेंगे ।इसका निरीक्षण पर्यवेक्षक करेंगे प्रवेशक द्वारा किए जा रहे पर्यवेक्षण कार्य की निगरानी ब्लॉक लेवल सुपरवाइजर करेंगे जिसमें एमपीडब्ल्यू तथा बीटीटी  रहेंगे वहीं अजय कुमार दास ने बताया कि कार्य के दौरान सोशल डिस्टेंस तथा फेस मास्क सैनिटाइजर का उपयोग करते हुए कार्य करना है  2 वर्ष से कम उम्र के बच्चे गर्भवती महिला तथा असाध्य रोग वाले व्यक्तियों को दवा सेवन नहीं करना है । 1 वर्ष से 2 वर्ष तक के बच्चों को अल्बेंडाजोल की आधी गोली खिलाई जाएगी।   जबकि 2 वर्ष से अधिक उम्र वाले को एक गोली अल्बेंडाजोल  की दी जाएगी। वही 2 वर्ष से 5 वर्ष वाले बच्चे एक गोली डीईसी  6 से  14 वर्ष वाले दो गोली डीईसी जबकि 14 वर्ष से अधिक उम्र वाले तीन गोली  डीईसी का सेवन करेंगे वही किशोर चौधरी ने बताया कि सभी कार्यकर्ताओं को बूथ दिवस को अच्छी तरह से बैनर पोस्टर प्रदर्शित करना है प्रत्येक दवा खाने वाले व्यक्तियों के बाएं हाथ के छोटे अंगुली में निशान लगाना है तथा  प्रपत्र को अच्छी तरह से भरना है ताकि प्रतिवेदन  बनाते वक्त  त्रुटि ना हो।  प्रशिक्षण में संजीव कुमार, विनोद कुमार दास, सिकंदर साहिब, सुधीर कुमार, उदय शंकर, मोहम्मद रियाज, रंजीत कुमार, पुष्पा देवी, अनु देवी, कुसुम देवी, डिंपल कुमारी, नित्यानंद मेहरा, कंचन मिश्रा, दर्जनों पर्यवेक्षक उपस्थित थे।

No comments