मधुपुर कर्मचारी विरोधी नीति के विरोध में भारत सरकार के खिलाफ पूर्व रेलवे मेंस यूनियन ने किया प्रदर्शन।

 


कर्मचारी विरोधी नीति के विरोध में भारत सरकार के खिलाफ पूर्व रेलवे मेंस यूनियन ने किया प्रदर्शन।


मधुपुर  7 अगस्त : पूर्व रेलवे मेंस यूनियन शाखा मधुपुर के द्वारा शुक्रवार को ए.आई.आर.एफ. के द्वारा निजी कारण एवं निगमीकरण के विरोध में लिए गए निर्णय के तहत इंजीनियरिंग विभाग यूनिट नंबर 11 में ट्रैक मैन कर्मचारियों से  संपर्क कर  सरकार के कर्मचारी विरोधी नीति एवं रेल का निजीकरण निम्नीकरण तथा दिए गए DA फ्रिज करने एवं रिटायरमेंट की सीमा 30 साल एवं 55 साल करने के विरोध में प्रदर्शन किया गया। एवं कर्मचारियों को एक  जुट होकर सरकार के विरोध में खड़ा होने के लिए तैयार रहने को कहा गया।  उन्हें रेलवे में निजीकरण के विरोध में  जामताड़ा से लेकर सिमुलतला, गिरिडीह से दुमका तथा सभी स्टेशन डिपो में ई आर एम यू के सदस्यों के द्वारा विरोध प्रदर्शन कर रहा है। विरोध में स्टेशन परिसर पर सरकार के नीति के विरोध में शाखा सचिव अनिल कुमार राय के नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन किया। मौके पर  सरकार विरोधी जमकर नारेबाजी की गई। मौके पर शाखा सचिव अनिल कुमार ने कहा कि इस कोरोना वायरस महा मारी में श्रमिक  ट्रेनों से प्रवासी मजदूर को रेल कर्मचारी के द्वारा लाया जा रहा था इस कठिन घड़ी में रेल कर्मचारी ने अपनी जान को जोखिम में डालकर इस महामारी को देखते हुए श्रमिक ट्रेन को  प्रवासी मजदूर को लाने और ले जाने का काम कर रहे थे।इस     सरकार की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है। सरकार रेलवे को निजी करण कर रही है । वहीं सचिव ने कहा कि आगामी 10 अगस्त को संध्या 4:00 बजे से मधुपुर स्टेशन के सामने सभी रेलकर्मी गन ईआर एम यू के बैनर तले काला छाता लेकर विछोभ प्रदर्शन करेंगे जिसका रेल कर्मचारी  रेलकर्मी व यूनियन के सदस्य मौजुद रहें गे। मौके पर कार्यकारि अध्यक्ष डीके मिश्रा उपाध्यक्ष वकील यादव, दिवाकर गुप्ता, आरके सिंह, बलदेव महतो, अनुज यादव, धर्मेंद्र कुमार संतोष कुमार समेत पूर्व रेलवे मेंस यूनियन के पदाधिकारी कर्मचारी मौजूद थे!

No comments