एनएसएस द्वारा ऑनलाइन वेबिनार समन्वय बैठक का आयोजन,स्वयं सेवकों को समाज के प्रति जिम्मेदारी निभाने की दी गई सलाह









देवघर ब्यूरो रिपोर्ट- बुधवार 5 जुलाई को देवघर व दुमका के राष्ट्रीय सेवा योजना योजना (युवा कार्यक्रम खेल मंत्रालय, भारत सरकार) की ओर से ऑनलाइन वेबिनार समन्वय बैठक आयोजित की गई। बैठक में सिद्धो- कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय की कार्यक्रम समन्वयक डॉ मेरी मारग्रेट टुडू,देवघर जिला की नोडल पदाधिकारी  भारती प्रसाद, दुमका जिला की नोडल पदाधिकारी डॉ रूपम कुमारी एवं राष्ट्रपति अवॉर्डी  राजेंद्र कुमार साव ने अपने-अपने विचार रखें। अपने अध्यक्षीय भाषण में डॉक्टर मेरी मारगेट टुडू ने कहा राजेंद्र जैसा स्वयंसेवक पूरे विश्वविद्यालय के स्वयंसेवकों के लिए प्रेरणा का स्रोत है अतः सभी स्वयंसेवकों को इसी तरह समाज सेवा में लगे रहना चाहिए ताकि हर वर्ष हमारा महाविद्यालय व विश्वविद्यालय ऐसे ही होनहारों से सुसज्जित हो सके। साथ ही वर्तमान मैं कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में अपनी सक्रिय भूमिका निभानी चाहिए । आप स्वयं स्वस्थ रहें और समाज को भी स्वस्थ रहने के लिए प्रेरित करें। कोविड-19 की बढ़ती भयावहता के बीच राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवकों के बीच सेवा भाव मैं आई शून्यता को दूर करने  हेतु राष्ट्रपति अवॉर्डी  राजेंद्र साव ने अपनी पूरी जीवनी साझा की और बताया कि राष्ट्रीय सेवा योजना की सदस्यता ग्रहण करने से लेकर राष्ट्रपति अवार्ड पाने तक उनके जीवन का एकमात्र लक्ष्य कार्य करते जाना रहा है और उनका मानना है कि यदि अपना लक्ष्य पाना है तो निश्चय ही फल की आशा छोड़कर कार्य करते जाना चाहिए। स्वयंसेवकों को प्रोत्साहित करते हुए राजेंद्र साव ने बताया के प्रत्येक स्वयंसेवक को एनएसएस का बैच और डायरी हमेशा साथ रखना चाहिए और पूरी तन्मयता से समाज सेवा में जुड़ा रहना चाहिए, यही एकमात्र रास्ता है जो उन्हें बहुत आगे तक ले जा सकती है। मौके पर,  भारती प्रसाद ने कहा के निरंतर कोरोना सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है ऐसी स्थिति में हमें शारीरिक ,मानसिक तथा सामाजिक तीनों स्तर पर समाज को संबलता प्रदान करनी है ।शारीरिक स्तर पर लोगों को  पोषण से भरा भोजन ,काढ़ा तथा योग- व्यायाम आदि करना चाहिए, मानसिक तौर पर बिना डरे बीमारी से लड़ने के लिए तैयार रहना चाहिए और सामाजिक तौर पर बीमारी से जूझ रहे मरीजों के साथ सहानुभूति पूर्वक व्यवहार करना चाहिए तभी हम इस महामारी से जीत पाएंगे। दुमका की नोडल पदाधिकारी डॉ रूपम कुमारी ने  राजेंद्र साव के जीवनी से स्वयंसेवकों को प्रेरणा लेने की बात कही और वर्तमान समय में कोरोना महामारी से जूझने में समाज के प्रति जिम्मेदारी निभाने की सलाह दी।साथ ही ऐसे बैठकों की आवश्यकता पर भी बल दिया क्योंकि एक दूसरे से अनुभव साझा करने पर हमें नए मार्ग प्राप्त होते हैं मौके पर प्रगति राज,अतुल कुमार,तनीषा कुमारी, चाँदनी कुमारी,पंकज कुमार, शिवानी कुमारी,राहुल कुमार,राजेश कुमार,सोनू कुमार,नीरज कुमार,सूरज कुमार,छोटी कुमारी,सुमन कुमारी,अनामिका कुमारी,कल्पना कुमारी ,मधु कुमारी, वर्षा कुमारी,जितेन्द्र कुमार ,मकसूद कुमार,स्वाति कुमारी,सुमोना कुमारी,राहुल पाण्डेय, सानू कुमार  सहित सैकड़ों वालंटियर उपस्थित थे।*
     

No comments