पतना प्रखण्ड में आठ लाभुकों के बीच किया गया 750 आम के पौधों का वितरण

 



पतना प्रखण्ड में आठ लाभुकों के बीच 750 आम के पौधों का वितरण


बिरसा हरित ग्राम योजना' का हो रहा ज़िले में सफ़लता से क्रियान्वयन

 साहिबगंज - कोविड-19 संक्रमण के कारण ख़राब हुई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की राज्य सरकार की सोच अब जमीनी स्तर पर कार्यान्वित होनी शुरू हो गई है। संकट की अवधि में लोगों को तत्काल रोजगार उपलब्ध कराने के साथ-साथ परिसंपत्तियों के सृजन (ग्रीन एसेट) की दोहरी मंशा के साथ शुरू की गई 'बिरसा हरित ग्राम योजना' के पहले वर्ष का वर्क प्लान तैयार कर जिलों को सुपुर्द कर दिया गया है तथा पहले वर्ष पूरे राज्य में चालीस लाख पौधे लगाए जाएंगे।मनरेगा के अंतर्गत क्रियान्वित होने वाली इस योजना को पूरे राज्य में एक साथ शुरू किया गया है। प्रत्येक पंचायत के एक गांव में पांच एकड़ में पौधारोपण कार्य कार्य रैयती और गैर मजरुआ दोनों तरह की जमीन पर शुरू किया जाना है। गैर मजरुआ जमीन पर 100-100 पेड़ों का पट्टा जरूरतमंदों और भूमिहीनों को सौंपा जाएगा।इसी क्रम में साहिबगंज ज़िले में भी वृहत रूप से वृक्षारोपण किया जा रहा है, जिससे आने वाले समय मे पर्यावरण का संतुलन बनने के साथ लोगों के लिए रोज़गार के अवसर भी पैदा हो सकेंगे।इन्ही प्रयासों के साथ आज पतना प्रखण्ड में आठ लाभुकों के बीच 750 आम के पौधों का वितरण किया गया जिससे उन सभी लाभुक किसानों को स्वाबलंबी होने में मदद मिल सकेगी।

No comments