देवघर 74वें स्वतंत्रता दिवस पर मंत्री हाजी हुसैन अंसारी ने दी ढेर सारी शुभकानाएं व बधाई


74वें स्वतंत्रता दिवस की ढेर सारी शुभकानाएं और बधाईः-माननीय मंत्री हाजी हुसैन अंसारी...

 विश्व के सबसे बडे लोकतांत्रिक देश भारतवर्ष के स्वतंत्रता संग्राम में खून-पसीना बहाने वाले सभी शहीदों को सतत् नमनः-माननीय मंत्री....


देवघर ब्यूरो रिपोर्ट- शनिवार  को 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर के0के0एन स्टेडियम में आयोजित मुख्य समारोह में माननीय मंत्री हाजी हुसैन अंसारी अल्पसंख्यक, कल्याण एवं निबंधन विभाग, झारखण्ड सरकार द्वारा झण्डोत्तोलन किया गया। इस दौरान  मंत्री ने अपने अभिभाषण में कहा कि शताब्दियों के परतंत्रता के उपरांत भारत 15 अगस्त,1947 को स्वतंत्र हुआ था। आज देश के 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर तमाम देवघरवासियों को हार्दिक शुभकामना। आज से 73 वर्ष पूर्व आज ही के दिन वर्ष 1947 को हमारे देश को ब्रिटिश साम्राज्य से स्वतंत्रता मिली थी।  ‘‘अलग-अलग प्रांत, अलग-अलग भाषा-किन्तु अपना एक भारतवर्ष देश’’।  स्वतंत्रता दिवस के इस राष्ट्रीय पर्व पर अनेकता में इस एकता का दर्शन हम भारतवासियों को होता है। विश्व के सबसे बडे लोकतांत्रिक देश भारतवर्ष के स्वतंत्रता संग्राम में खून-पसीना बहाने वाले सभी शहीदों को सतत् नमन। इसके अलावे उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 में जहाॅ झारखण्ड राज्य सहित पूरा भारतवर्ष वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से जूझ रहा है- वहीं  इसके संक्रमण के प्रसार के रोकथाम हेतु हेतु राज्य सरकार सहित केन्द्र सरकार पूरी तरह सजग एवं संवेदनशील है। इसके परिणाम स्वरूप इस वैश्विक महामारी से पीड़ित मरीजों के रिकवरी (ठीक) होने का दर 70 प्रतिशत से अधिक है। इस वैश्विक महामारी के कारण आम नागरिकों के सुरक्षा उपाय के तहत बर्ष 2020 के लिये विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला का आयेाजन नहीं किया जा सका।  देवघर जिला में इस महामारी के संक्रमण के प्रसार को रोकने एवं इसके प्रकोप के  रोकथाम  हेतू हर संभव कारगर कार्यवाई की जा रही है। इसके अलावे जिले में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल,नगर निगम, जिला परिषद के समन्वय से लगातार जिले के कोविड क्षेत्रों को सेनेटाईज्ड कराया जा रहा है। जिले में कोविड संक्रमण को देखते हुए जिला के प्रशासनिक/पुलिस, नागरिक सुरक्षा स्वंय सेवक, आपदा मोचन बल के द्वारा सामाजिक दूरी अनुपालन/मास्क का उपयेाग तथा हैण्ड सेनेटाईजर का प्रयोग करने हेतु विभिन्न माध्यमों यथा- लाउडस्पीकर,हैण्ड बिल, वैनर एवं पम्पलेट इत्यादि द्वारा व्यापक तरीके से प्रचार प्रसार कराया जा रहा है। साथ हीं जिले में वत्र्तमान मेंकुल 14 कोविड केयर सेन्टर को कार्यरत रखा गया है, जिसमें करोना मरीज के लिये लगभग 500 बेड उपलब्ध है। देवघर जिला के विभिन्न शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रां में कोरोना पोजिटिव का मामला पाये जाने के फलस्वरूप 59 क्षेत्र को काॅनटेनमेट जोन/वफर जोन के रूप में चिन्ह्ति किया गया तथा नियमानुसार निर्धारित समयावधि पूर्ण होनेके पश्चात इनमें से 09 क्षेत्र को काॅनटेनमेट जोन/वफर जोन से मुक्त किया जा चुका है। देवघर जिला में अबतक कुल 660 मरीजों का रिपोर्ट पोजेटिव पाये गये है।  इनमें से इलाज के उपरांत 438 मरीज स्वस्थ हो चुके है। वत्र्तमान में देवघर जिलान्तर्गत 01 डेडिकेटेड काविड हाॅस्पीटल (माॅ ललिता हाॅस्पीटल,देवघर) तथा एक डेडिकेटेड कोविड हेल्थ  सेन्टर (परित्रण हाॅस्पीटल, दर्दमारा,देवघर) की सेवा सुलभ है जिसमें 50-50 बेड उपलब्ध है। झारखण्ड सरकार के नीतिगत निर्णय के तहत कोराना वायरस के आरंभिक चरण में प्रभावी लाॅक डाउन के दौरान देवघर जिला के वैसे श्रमिक जो झारखण्ड राज्य के बाहर एवं झारखण्ड राज्य के अंदर अन्य जिलों में फॅसे हुए थे- उनके परिवार के मुखिया के खाता में  क्रमशः 2000/-रू0 एवं 1000/-रू0 विधायक येाजनान्तर्गत प्रति विधानसभा क्षेत्र मो0 25.00 लाख रूपये के अन्तर्गत आर्थिक सहायता के रूप में उपलब्ध कराया गया है। इसके अतिरिक्त सम्पूर्ण लाॅक डाउन के शुरूआती दौर में झारखण्ड राज्य के वैसे श्रमिक जो अन्य राज्यों से ट्रेन द्वारा देवघर के जसीडीह स्टेशन पर उतर कर अपने गंतव्य स्थान/जिला के लिये सड़क मार्ग से भेजे गये, को देवघर जिला में 38 दाल भात केन्द्र, 239 दीनी किचन एवं 17- अन्य सामुदायिक किचन के माध्यम से तीन-चार दिनों तक उनके भेाजन एवं आवासन की व्यवस्था करायी गयी। वर्तमान में समय की नजाकत को देखते हुए देवघर जिला के वासियों से पुनः अनुरोध से इस वैश्विक महामारी के फलस्वरूप उत्पन्न विषम परिस्थितियों का धैर्यतापूर्वक संयम के साथ सामना करते हुए इसे हराने में जिला, राज्य एंव देश केा हर संभव सहयोग प्रदान करें। मास्क,सेनेटाईजर, सामाजिक दूरी के सिद्धान्त का पालन कर स्वंय स्वस्थ रहे तथा अपने परिवार को स्वस्थ्य रखकर देवघर जिला/झारखण्ड राज्य सहित देश को इस महामारी से सुरक्षित रखने में अपना अहम योगदान दें।  

 अभिाषण के दौरान मंत्री हाजी हुसैन के द्वारा देवघर जिलान्तर्गत विभिन्न योजनाओं/कार्यक्रमों की उपलब्धि की विस्तृत जानकारी अपने अभिभाषण के दौरान दी जो कि निम्नवत है-*

   1. ग्रामीण विकास: 

  (●) महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी येाजना:-


   (●)   इस वित्तीय वर्ष 2020-21 के दौरान देवघर जिले के अंतर्गत अबतक लगभग 44.59 करेाड रूपये व्यय कर 81139 परिवारों को रोजगार के अवसर प्रदान किये गये है तथा इसके माध्यम से लगभग 17.45 लाख मानव दिवस का सृजन किया गया है। कुल 430 परिवार को वर्ष के दौरान 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध कराया जा चुका है।

     इस वित्तीय वर्ष के अबतक 5977 योजनाऐं पूर्ण की जा चकी है तथा वर्तमान में 26135 योजनाऐं  कार्यशील/ निर्माणाधीन है।

            मनरेगा-श्रमिकों के मजदूरी भुगतान की प्रक्रिया में पारदर्शिता बरतते हुए विभागीय निर्देश/मापदण्ड के अनुरूप PFMS माध्यम से मजदूरी का भुगतान मजदूरों के बैंक खाते में किया जा रहा है। साथ ही, कार्यान्वित करायी जा रही योजनाओं में पारदर्शिता बरतने हेतु तीन चरणों में Geo Tagging किया गया है।


  (ख)  मनरेगा के तहत झारखण्ड सरकार की अति-महत्वाकांक्षी योजना (बिरसा हरित ग्राम योजना) के अंतर्गत कृषक लाभुक के लगभग 1162 एकड़ निजी भूमि पर फलदार वृक्षारोपण का कार्य कराया जा रहा है।  

           साथ ही, बीर सहित पोटो हो खेल मैदान निर्माण योजना के तहत देवघर जिला में 20 पंचायत स्तरीय खेल मैदान का निर्माण कराया जा रहा हैै

           नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना के तहत कुल 2570 हेक्टेयर उपरी बंजर भूमि पर Trench-cum- bund (TCB) का कार्य कराया जा रहा है।

  (ग)  वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिये मनरेगा एवं समाज कल्याण विभाग से अभिषरण के तहत 100 भवनहीन आंगनबाड़ी केन्द्र के लिये भवन निर्माण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 

(पप) प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण:-  इस योजना के तहत देवघर जिले को वर्ष 2019-20  के लिये निर्धारित लक्ष्य 15000 के विरूद्ध अबतक 7259 आवास का निर्माण कार्य पूर्ण करा लिया गया है। शेष कार्य प्रगति में है तथा पूर्णता हेतु युद्ध स्तर पर कार्य जारी है।  

         वित्तीय वर्ष 2020-21  के लिये देवघर जिला को कुल 12176 आवास के नव-निर्माण का लक्ष्य प्राप्त हुआ है, जिसके विरूद्ध 4788 लाभुक परिवार के लिये आवास की स्वीकृति प्रदान जा चुकी है तथा लाभुक परिवार को प्रथम किस्त निर्गत करने के उपरांत कार्य प्रगति में है।


 (घ) जे0एस0एल0पी0सी0ः-

        ग्रामीण विकास विभाग,झारखण्ड सरकारके द्वारा संचालित झारखण्ड स्टेट लाईवलीहुड प्रोमेाशन सोसाईटी के द्वारा अबतक देवघर जिला के सभी दस प्रखण्डां के 194 पंचायतों के अंतर्गत कुल 9848 सखी मण्डलों का गठन किया गया है। जिसके अंतर्गत कुल 1,47,027 गरीब परिवारों की महिलाऐं जुडकर महिला सशक्तिकरण एवं आत्मनिर्भर करने हेतु कदम बढाया गया है। कुल 729  ग्राम संगठनों का गबठनअबतक हो चुका है। साथ ही, 18 संकुल स्तरीय संगठनों का गठन भी अबतक हो चुका है।  6490 सखी मण्डलों का बैंक खाता खोला जा चुका है एवं 6092 सखी मण्डलों को चक्रिय निधि की राशि प्राप्त हो चुकी है।  2730 सखी मण्डलों को बैंक लिंकेज से लाभान्वित किया गया है।  इस प्रकार सखी मण्डलों से जुडकर महिलाऐं आत्मनिर्भर बनते हुए सशक्तिकरण से समृद्धि की ओर निरंतर आगे बढ़ रही है।

2. पर्यटन, कला-संस्कृति, खेलकूद एवं अन्यः-


    (क) देवघर जिलान्तर्गत सारवाॅं, मधुपुर एवं देवीपुर  के लिये प्रखण्ड स्तरीय स्टेडियम का निर्माण की स्वीकृति मो0 मो0 109.44 लाख (प्रति स्टेडियम) की स्वीकृति विभाग से प्राप्त हुई है। इन तीनों प्रखण्ड स्तरीय स्टेडियम का निर्माण कार्य भौतिक रूप से पूर्ण कराया जा चुका है।

  (क) देवघर जिलान्तर्गत चिन्ह्ति महत्वपूर्ण पर्यटन/दार्शनिक स्थल (नंदन पहाड, तपोवन-पहाड़, त्रिकुट पहाड,  बुढई पहाड, हरिलाजोरी, तुतरापहाड-सारवाॅ, पथरौल, चोलपहाडी, डकाय दुबे बाबा मंदिर परिसर,  सिकटिया-बराज, तालझारी-दुर्गामंदिर स्थल, कुकराहा दुर्गा मंदिर स्थल, तथा गंजोबारी-नायक धाम) को विकसित करनेे एवं आकर्षक बनाने हेतु वर्ष 2016-17 से 2019-20, के लिये प्राप्त विभागीय आवंटन से स्थानीय आवश्यकता आधारित संरचना का निर्माण कराया गया है।

      देवघर नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत 04 पर्यटन/सार्वजनिक स्थलों पर Open - Indoor GYM का निर्माण कराया जा रहा है।

     (ख) प्रसाद योजनाः-

          विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला के हित श्रावणी मेला आच्छादित क्षेत्रों के लिये निम्न कार्य स्वीकृत हैः-

1- Enterance Gateway to City

2- Jalsaar Lake Front Development

3- Shivganga Pond Beautification

4- Tourist Information KIOSK

5- Command Center

6- Kanwariya Path Strengthening


            प्रसाद योजनान्तर्गत लगभग 39 करोड लागत राशि से कमाण्ड सेन्टर बनाया जाना है, जो सभी सुविधाओं से युक्त होगा एवं भुतल पर  द्वादश ज्योर्तिलिंग का माॅडल बनाया जाएगा।

        

3. प्रखण्ड भवन


     देवघर जिलान्तर्गत पाॅंच प्रखण्ड (मोहनपुर, सारठ, पालोजोरी, मधुपुर एवं करौं) के लिये मो0 367.594 लाख रू0 प्राक्कलित राशि(प्रति भवन) के अनुरूप सभी आधारभूत सुविधा युक्त नये प्रखण्ड-सह-अंचल कार्यालय भवन का निर्माण कार्य पूर्ण कराया जा चुका है, जिसे व्यवहार में लाया जा रहा है। नये भवन निर्माण से प्रखण्ड/अंचल से संबंधित कार्य के सम्पादन में सुविधा हो रही है एवं इससे आम गा्रमीण को भी सुविधा मिल रही है।

4. कृषि

  खरीफ फसल हेतु बर्ष 2020-21 में 50 प्रतिशत अनुदानित दर पर  किसानो को 1730 क्वी0 धान बीज, 10 क्वी0 उडद बीज, 50 क्वी0 अरहर बीज एवं13.52 क्वीं0 मूॅग बीज का वितरण किया गया है।

  प्रधानमंत्री कृषि समान्न निधि योजनाके तहत दिनांक 09.08.2020 को जिले के 42342 किसानो को मो0 2000/-रू0 प्रति किसान की दर से छठा किस्त विमुक्त किया गया ।

   जिले में प्रधानमंत्री किसानयोजना के तहत आच्छादित किसानों में से 1,30,000 के0सी0सी0  कार्ड निर्गत किया गया है।

   आत्मा,देवघर के माध्यम से जिले में फसल प्रत्र्याक्षण अंतर्गत मक्का- 120 है0, अरहर - 50 हे0, उरद- 40 हे0 एवं मूॅग- 05 हे0 में प्रत्र्याक्षण किया गया है।

   बर्ष 2020-21 में कृषकों के बीज उन्नत तकनीक से खेती की जानकारी हेतु 10 कृषि पाठशालाकाआयेाजनकिया जाएगा।

5. सामाजिक सुरक्षाः-


     इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय वृद्धा पेंशन (सामान्य) के तहत् 37332 लाभुक, इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय वृद्धा पेंशन {80 वर्ष एवं इससे ऊपर} (सामान्य) के तहत् 3134 लाभुक, इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन (सामान्य) के तहत्  9345 लाभुक, इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय विकलांग पेंशन (सामान्य) के तहत् 1578 लाभुक, मुख्यमंत्री राज्य वृद्धावस्था पेंशन (सामान्य/विश्ेाष) के तहत् 14107 लाभुक, मुख्यमंत्री राज्य विधवा सम्मान पेंशन (सामान्य/विश्ेाष) के तहत् 10656 लाभुक, मुख्यमंत्री आदिम जन जाति पेंशन (सामान्य) के तहत 808 लाभुक, एच0आई0वी0 एड्स पीड़ित पेंशन (सामान्य/विश्ेाष ) के तहत 51 लाभुक, तथा स्वामी विवेकानंद निःशक्त स्वावलंबन पेशन योजना (सामान्य/विश्ेाष) के तहत कुल 13020 लाभुक (कुल 89031 लाभुक) को आच्छादित करते हुए लाभान्वित किया जा रहा है।


6. जिला खनिज फाउण्डेशन ट्रस्ट (DMFT)

       जिला खनिज फाउण्डेशन ट्रस्ट के तहत देवघर जिला अंतर्गत इस मद में उपलब्ध निधि से खनिज खनन एवं इसके ट्रान्सपोर्ट आच्छादित/प्रभावित क्षेत्र (ग्राम/पंचायत) के लिये ग्रामीण जलापूत्र्ति योजना,  आॅगनबाडी केन्द्र, स्वास्थ्य उपकेन्द्र, हाट बाजार/बस स्टैण्ड के लिये पेयजलापूत्र्ति येाजना, स्वच्दता (शौचालय) निर्माण की योजना के अतिरिक्त ग्रामीण सम्पर्क पथ/पुलिया इत्यादि का निर्माण कराया जा रहा है।

       साथ ही, रेड क्राॅस सोसाईटी को ब्लड डोनर बेड उपलब्ध कराया गया है। 

7.  एम्स:-

       देवघर जिलान्तर्गत बहुुप्रतीक्षित एम्स का निर्माण कार्य आरंभ हो चुका है।

       इसी क्रम में बर्ष 2019 में एम्स के नियंत्रणाधीन एम0बी0बी0एस0 के शैक्षणिक सत्र का आरम्भ स्थानीय पंचायत प्रशिक्षण संस्थान,डाबरग्राम,जसीडीह में किया जा चुका है।



8. स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण):-


      देवघर जिला संथाल परगना का प्रथम खुले में शौचमुक्त जिला घोषित। निरंतर उपयेाग हेतु सबों की भागदारी से सघन जन-जागरूकता अभियान ग्राम स्तर पर किया जा रहा है। 

       वत्र्तमान में कतिपय छूटे हुए लाभुक का सर्वे कराते हुए लगभग 16000 नये शौचालय (IHLs) का निर्माण कराया जा रहा है। 

       साथ ही, प्लास्टिक मुक्त ग्राम की दिशा में देवघर जिलान्तर्गत जल अभियान चलाया जा रहा है।

      ODF+ गतिविधि के तहत परिस्थितिकीय रूप से सुरक्षित और स्थायी स्वच्छता एवं सुरक्षित स्वच्छता पद्धति को विकसित करने हेतु विभिन्न गतिविधियाॅ स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण कार्यक्रम अंतर्गत चलाया जा रहा है।क

 मंत्री स्वतंत्रता सैनानियों व उनके परिजनों के साथ जिले के कोरोना वरियर्स, समाजसेवी संस्थाओं व बच्चों को किया गया सम्मानित...*

कार्यक्रम के दौरान माननीय मंत्री हाजी हुसैन अंसारी द्वारा जिले के स्वतंत्रता सैनानियों व उनके परिजनों को साॅल व पुस्पगुच्छ देकर सम्मानित किया गया। इसके अलावा दसवीं एवं बारहवीं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 14 छात्र-छात्राओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। साथ हीं कोरोना वाॅरियर्स के रूप में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी  विकास चन्द्र श्रीवास्तव व जिले के 15 चिकित्सक, 9 स्वास्थ्यकर्मी, नगर निगम के सफाईकर्मी एवं  विभिन्न समाजसेवी संस्थाओं को सम्मानित किया गया।

*इस दौरान उपरोक्त के अलावे* उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी  कमलेश्वर प्रसाद सिंह, पुलिस अधीक्षक  पियुष पांडेय, उप विकास आयुक्त  शैलेन्द्र कुमार लाल, अनुमंडल पदाधिकारी  विशाल सागर, प्रशिक्षु आईएएस संदीप मीना, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी  रवि कुमार, जिला नजारत उपसमाहर्ता एवं संबंधित अधिकारी आदि उपस्थित थें।

No comments