साहेबगंज में मनरेगा कर्मी अपनी लंबित मांगो को लेकर 11वें दिन भी डटें रहे हड़ताल पर, मांगे पूरी नहीं होने तक यह हड़ताल रहेगा जारी



मनरेगा कर्मी अपनी लंबित मांगों को लेकर हड़ताल पर डटे रहे


साहिबगंज:-झारखंड राज्य मनरेगा कर्मचारी संघ जिला इकाई की बैठक मंडरो प्रखंड के बीपीओ मनीष कुमार की अध्यक्षता में की गई।बैठक में 11वाँ दिन से जिले में चल रहे हड़ताल पर चर्चा किया गया।बीपीओ मनीष कुमार ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि झारखंड राज्य मे मनरेगा योजना में मनरेगा आयुक्त एवं ग्रामीण विकास मंत्री के दबाव में आकर जिला एवं प्रखंड के पदाधिकारी अधिकतर फर्जी मजदूरों का डिमांड देकर सरकार से वाह वाही ले रहे हैं आज के समय में तालाब कुआँ,सड़क एवं समतलीकरण में 15 जुन के बाद किसी भी परिस्थितियो में करना मनाई है जबकि हड़ताल की अवधि में इन सभी योजनाओं का बड़े पैमाने पर डिमांड किया जा रहा है मनरेगा कर्मी अपनी लंबित मांगों को लेकर हड़ताल पर डटे हुए हैं।सभी ने एक स्वर में कहा कि जब तक सरकार हमारी मांगे पूरी नहीं करती तब तक हड़ताल जारी रहेगा।बैठक में अभिषेक आनंद,मनीष कुमार,मानसरोवर कुमार,मलिक,मनोज कुमार दुबे,निरंजन कुमार झा,अरुण कुमार,सुशील कुमार,गोपाल कुमार,मोहम्मद आलम,मोहम्मद जाफर,गगन बाबू एवं अन्य कर्मी मौजूद थे।

 ये है मांगे

1 झारखंड राज्य के सभी मनरेगा कर्मी की सेवा अस्थाई किया जाए। 
2 सेवा स्थायीकरण तक समान काम समान वेतन दिया जाए।
3 मनरेगा कर्मियों को सीधे बर्खास्त पर रोक लगाया जाए एवं छोटे-छोटे गलतियों पर बर्खास्त मनरेगाकर्मियों को पुनःसेवा में लिया जाए।
4 मनरेगा कर्मियों को सीमित की परीक्षा में बैठने का अवसर दिया जाए तथा राज्य के समस्त नियुक्तियों में मनरेगा कर्मियों को उम्र सीमा में सेवा काल की अवधि के बराबर छूट एवं रिक्त पदों में 50% आरक्षण दिया जाए।
5 बिहार के तर्ज पर मनरेगा को स्वतंत्र इकाई घोषित करते हुए मनरेगा कर्मियों को इनके क्रियान्वयन की संपूर्ण जिम्मेदारी दी जाए।


No comments