एएसआई चंद्र राय सोरेन ने रांची के मेडिका अस्पताल में ली आखरी सांस


ब्यूरो रिपोर्ट।साहिबगंज:--जिला के बोरियो थाना अंतर्गत व्यवसायी अरुण साह के अपहरण एवं हत्या कांड में छापामारी के दौरान अपराधियों की गोली से घायल  हुए बरहेट थाना के एएसआई चंद्रराय सोरेन 22 दिन बाद आखिरकार ज़िन्दगी का जंग हार गये। श्री सोरेन का रांची के मेडिका अस्पताल में इलाज चल रहा था जहां उन्होंने रविवार की सुबह अंतिम सांसे लीं।ज्ञात हो कि बीते दिनों 22 जून को अपहृत अरुण कुमार शाह की सकुशल बरामदगी को लेकर लगातार पांच दिनों से चल रही सर्च अभियान के दौरान शनिवार को दोपहर अपराधियों ने पुलिस टीम के ऊपर अचानक गोलीबारी की थी।जिसमें बरहेट थाना में पदस्थापित एक पुलिस अधिकारी एएसआई चंद्र राय सोरेन को पेट में गोली लगी थी .जिसे इलाज हेतु सदर अस्पताल लाया गया था जहां संथाल परगना के डीआईजी व जिला के एसपी सदर अस्पताल पहुंचकर इलाज करवाएं वहीं डॉक्टरों द्वारा रेफर करने के बाद उसे राज्यसरकार से बात करने  के बाद हेलीकॉप्टर भेजी गई .हेलीकॉप्टर के माध्यम से घायल पुलिस अधिकारी को एअर लिफ्ट कराया गया रांची में इलाज कराने हेतु सदर अस्पताल के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ मोहन पासवान के साथ एक कंपाउंडर छोटू कुमार को साथ ले जाया गया ताकि पेशेंट का सही से देखभाल होता रहे।

कांस्टेबल के तौर पर 2015 में हुई थी पोस्टिंग:
एएसआई चंद्र राय सोरेन पिता लोस्को सोरेन जो कि सरायकेला खरसावां के राजनगर थाना क्षेत्र 
के निवासी हैं.वे 2015 जून में कॉन्स्टेबल के पद पर साहिबगंज, बरहरवा में पोस्टिंग हुई थी। इसके बाद 2018 में उनकी एएसआई में पदोन्नति हुई थी। जिसके बाद से बरहेट थाना में कार्यरत थे।
 चन्द्राय सोरेन अपने पीछे पत्नी सुनीता सोरेन, 7 वर्षीय पुत्र बेनेलक्स सोरेन व 3.6 वर्षीय पुत्री ज्योत्सना सोरेन छोड़ गए हैं।
चॉपर से रिम्स भेजा गया घायल एएसआई;
अपराधियों के बीच मुठभेड़ में घायल एएसआई चंद्रराय सोरेन को सदर अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद घायल को बेहतर इलाज के लिए चॉपर से रांची भेजा गया। इसके पूर्व एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा की देखरेख में घायल का प्राथमिक उपचार हुआ।

सीएस व डॉ मोहन ने व्यक्त की संवेदना

सिविल सर्जन डॉ डीएन सिंह व झासा के प्रमंडलीय उपाध्यक्ष सह आईएमए के जिला सचिव डॉ मोहन पासवान ने एएसआई  चन्द्राय सोरेन के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त की है। दोनों ने बताया कि विपरीत परिस्थिति में स्वास्थ्य विभाग ने चन्द्राय सोरेन के स्वास्थ्य के लिए हर संभव प्रयास किया। 

ऑडिटोरियम में शहीद के नाम 2 मिनट का मौन रखा गया:
साहिबगंज बरहेट थाना में पदस्थापित एएसआई चंद्राय सोरेन की शहादत पर रविवार की शाम 5:00 बजे पुलिस लाइन मैदान स्थित ऑडिटोरियम में शहीद के नाम 2 मिनट का मौन रखा गया .इस मौके पर उपस्थित पुलिस अधीक्षक अनुरंजन किस्पोट्टा ने कहा कि निश्चित तौर पर एक बहादुर पुलिस अधिकारी था जिसकी बहादुरी भुलाया नहीं जा सकता  है ईश्वर  उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें  साथ में  परिवार वालों को  सहन शक्ति दे  वही मौके पर मौजूद  एसडीपीओ  विजय आशीष को जोड़ने  कहा कि स अ नि स्व चंद्राय सोरेन जो पुलिस परिवार का एक अभिन्न अंग रहा आज हमारे बीच में नहीं नहीं है सनातन विश्राम के लिए पिता परमेश्वर ने अपने पास बुला लिया है ऐसे श़ोक और दुख की घड़ी में पुलिस परिवार उनकी आत्मा की शांति एवं परम विश्राम के लिए एक साथ कंडोलेंस सभा में उपस्थित होकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ।इस मौके पर पुलिस निरीक्षक धर्मपाल कुमार संगठन के अध्यक्ष जेपी सिंह सचिव शमशाद आलम पुलिस जवान के अध्यक्ष पंकज यादव सार्जेंट मेजर सहित अन्य पुलिस पदाधिकारी व जवानों ने 2 मिनट का मौन रखकर शहीद पुलिस अधिकारी के तैल चित्र पर पुष्प आयोजित किया वहीं दूसरी ओर सभी स्थानों में शहीद पुलिस अधिकारी की आत्मा की शांति के लिए 2 मिनट का मौन रखा वही मोमबत्ती जलाकर प्रार्थना अर्जित की

No comments