देवघर के कपड़ा एवं जूता-चप्पल व्यवसायियों ने टावर चौक पर मांगे भीख


देवघर ब्यूरो रिपोर्ट।देवघर में लॉक डाउन के दरमियान एक करोड़ के कपड़े को चूहे ने कुत्रा लॉक डाउन के दरमियान जहां बहुत से व्यक्तियों को बहुत सा नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। वहीं व्यवसायियों को दुकान बंद रखने के दरमियान रोजी-रोटी का साधन खत्म होते दिख रहा है। इस वजह से कपड़ा और जूता चप्पल व्यवसायियों ने हाथों में कटोरा लेकर सड़क किनारे बैठ सरकार का जताया विरोध दुकान खोलने की इजाजत नहीं मिलने पर व्यवसायियों में काफी नाराजगी देखी गई। देवघर के कपड़ा एवं जूता-चप्पल व्यवसायियों ने दुकान बंद होने के कारण मंदिर के समीप टावर चौक पर जताया अपनी नाराजगी और कहां की इतने दिनों से दुकान बंद होने के कारण कपड़ों में दीमक लग जाने से और कपड़ों को चूहे द्वारा काटने से काफी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। व्यवसायियों का कहना है कि दुकान बंद होने के दरमियान पूरा देवघर जिलों में  एक करोड़ रुपए  का कपड़ा एवं जूता चप्पल व्यवसाय को नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। कपड़ा जूता चप्पल व्यवसाय का कहना है कि अगर झारखंड सरकार दुकान खोलने की अनुमति नहीं देते हैं।। तो उन्हें भीख मांगने की नौबत आ गई है। और।अगर अब उन्हें दुकान खोलने की इजाजत नहीं दी गई तो उनके पूरे परिवार को भीख मांगने की नौबत आ जाएगी। इस वजह से व्यवसायियों ने अपना नाराजगी व्यक्त करते हुए हाथ में कटोरा लेकर मांगे भी।

No comments