प्रवासी श्रमिकों की सुविधा और सुरक्षा के लिए जिला प्रशासन लगातार प्रयासरत उपायुक्त


                                         
ब्यूरो रिपोर्ट।उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी  नैन्सी सहाय द्वारा जानकारी दी गयी है कि वैश्विक महामारी कोविड 19 के संक्रमण काल के मद्देनजर आत्मनिर्भर भारत के तहत प्रवासी मजदूर/फंसे हुए प्रवासी मजदूरों को माह मई एवं जून 2020 के लिये प्रति माह 5 किलोग्राम चावल एवं 1 किलोग्राम चना(गोटा) मात्रा कुल 10 किलोग्राम खाद्यान्न(चावल) एवं 2 किलोग्राम चना(गोटा) एकमुश्त निःशुल्क में उपलब्ध कराया जाना है।
*इस योजना के तहत उपलब्ध कराये जाने वाले निःशुल्क खाद्यान्न हेतु आवश्यक अहर्ता/योग्यता निम्न है:-*
1. झारखंड राज्य के ऐसे प्रवासी मजदूर जो अन्य राज्य से वापस आए है।
2. झारखंड राज्य में अन्य राज्यों के फंसे हुए प्रवासी मजदूर।
3. वर्तमान में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम से अच्छादित नहीं है।
 इसके अलावे देवघर जिला के अन्तर्गत ऐसे अहर्ता/योग्यता रखने वाले व्यक्ति मोबाईल के माध्यम से Google Play Store  पर उपलब्ध Bazzar App  को Download कर Instal कर Bazzar App  पर अपना नाम, आधार संख्या, मोबाईल संख्या इत्यादि की प्रविष्टि(दर्ज) करते हुए अपना स्वयं का पंजीकरण कर सकते है। साथ ही पंजीकरण के आलोक में प्रवासी मजदूरों/फंसे हुए प्रवासी मजदूरों का सत्यापनोपरांत चयनित जन वितरण प्रणाली विक्रेता के माध्यम से माह मई एवं जून 2020 का एकमुश्त 10 किलोग्राम चावल एवं 2 किलोग्राम चना(गोटा) उपलब्ध कराया जायेगा।

No comments