मानव सेवा में जुटे समाजसेवी सह भाजपा नेता शुभम सिन्हा प्रवासी मजदूरों को करा रहे है रोज भोजन


सारठ कोविड-19 के कारण से फैलने वाली संक्रमण से बचाव के लिए लॉक डाउन की घोषणा के बावजूद अगर इस देश में सबसे ज्यादा मुश्किल का सामना किसी ने किया है तो वह हमारे देश के मजदूर हैं।दूसरे राज्यों से आने के बाद इन मजदूरों को अपने ही पंचायत अतः सरकार के द्वारा घोषित क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है। जी हा हम बात कर रहे है सारठ मध्य विद्यालय में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर का इस सेटर मे गांव के कई प्रवासी मजदूरों को क्वॉरेंटाइन किया गया है।  सेटर मे इन लोगों के समक्ष खाने पीने की समस्या आ गई है ।मजदूरों की परेशानियों को देखते हुए। सारठ गांव के ही सामाजिक कार्यकर्ता शुभम कुमार सिन्हा ने प्रवासी मजदूरों के दर्द को अपना समझ कर 14 दिनों तक का दोनों समय का भोजन कराने का दायित्व उठाया जो काबिले तारीफ है। इन समाजसेवियों की जितनी तारीफ की जाए वह वाकई कम है।
इसी कड़ी मे आज सास्कृतिक राजधानी मिडिया कर्मी क्वॉरेंटाइन सेटर सारठ मध्य विद्यालय पहुँच  कर  मजदूरो का हाल चाल जानने का प्रयास किया मजदूरो ने बताया कि अगर शुभम सिन्हा
ने हमलोगो के लिए भोजन उपलब्ध  नही करता तो सायद ही हमलोग को  भोजन कही से मिलता
तब मजबूर हो कर घर जाते
आज भी  क्वॉरेंटाइन सेंटर में रह रहे प्रवासी मजदूरो  को शुभम सिन्हा के द्वारा  दोपहर में तेहरि और रात में पूरी सब्जी  भोजन कराया गया। भोजन पाकर सभी क्वॉरेंटाइन सेंटर के लोग खुशी महसूस कर रहे हैं और लोग समाजसेवी सह भाजपा नेता शुभम सिन्हा जी का तारिफ कर रहे है

No comments