सड़क सुरक्षा नियमों का कड़ाई से पालन कराने को लेकर बैठक आयोजित की गई


देवघर ब्यूरो रिपोर्ट।आज  उपविकास आयुक्त शैलेन्द्र कुमार लाल की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में उपविकास आयुक्त द्वारा पिछले बैठक में दिए गए निदेशो के आलोक में अभी तक किये गए कार्यो की विस्तृत जानकारी लेते हुए सड़क सुरक्षा से संबंधित नियमों एवं कार्यो को बेहतर तरीके से क्रियान्वित करने का निदेश संबधित अधिकारी को दिया। इस अवसर पर उपविकास आयुक्त ने कहा कि सड़क सुरक्षा आज के समय में बड़ी चुनौती है। ऐसे में समय-समय पर सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है, ताकि लोगों को सड़क सुरक्षा नियमों के प्रति जागरूक किया जा सके। उन्होंने आगे कहा कि दो पहिया वाहन चलाने वालों को हेलमेट पहनने के लिए जागरूक करने की जरूरत है। साथ हीं 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को उनके अभिभावक किसी भी परिस्थिति में वाहन न दें। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन वाहन जाँच के लिए कैम्प का आयोजन किया जाय, ताकि बिना हेलमेट पहनने वाले दो पहिया वाहन चालकों एवं बिना सीट बेल्ट लगाकर चार पहिया वाहन चालकों पर विधिसम्मत कार्रवाई की जा सके। इसके अलावा उनके द्वारा 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के द्वारा वाहन चालन को रोकने हेतु जिलां शिक्षा पदाधिकारी को निदेशित किया गया कि वे जिला के विभिन्न विद्यालयों में कार्यशाला का आयोजन कर बच्चों एवं अभिभावकों को जागरूक करें। साथ ही उनके द्वारा विद्यालय के प्रधानाध्यापकों को भी इस दिशा में ध्यान देने को कहा गया, ताकि छोटे बच्चों के द्वारा वाहन का परिचालन न होने पाए।
ततपश्चात् उपविकास आयुक्त द्वारा पीआईयू के सदस्यों को निदेशित किया गया कि एक्सीडेंट रिकॉर्ड फॉर्म (ARF) के एक्सीडेंट होने के 24 घंटे के अंदर भरा जाना है इस हेतु सभी थाना के थाना प्रभारी को उचित प्रशिक्षण दें, ताकि ARF का कार्य समय से किया जा सके। उपविकास आयुक्त ने नगर निगम के नगर प्रबंधक एवं पथ प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता को निदेश दिया कि उनके द्वारा शहर एवं विभिन्न सड़को का निरीक्षण कर स्पीड लिमिट, ब्रेकर, टर्निंग आदि से संबंधित साइनेज आदि की जांच करा लें एवं आवश्यकतानुसार लगवाया जाय। इस दौरान उपविकास आयुक्त द्वारा जिला शिक्षा पदाधिकारी को निदेशित किया गया कि सड़क सुरक्षा जागरूकता के कार्यक्रमो को बेहतर ढंग से क्रियान्वित करने हेतु विद्यालय स्तर पर एक-एक नोडल शिक्षक को नियुक्त किया जाय एवं सभी का प्रशिक्षण कराया जाय। उपविकास आयुक्त ने यातायात पुलिस उपाधीक्षक को निदेश दिया कि सभी पीसीआर वाहन को उनके क्षेत्र में सघन वहान जांच कराया जाय एवं ड्रिंक एण्ड ड्राइव व रैश ड्राइव करने वाले वाहनों पर अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाय। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने हेतु बिना मास्क एवं हेलमेट के वाहन चलाना भी एक दंडनीय अपराध है एवं यदि कोई ऐसा करता हुआ पाया जाता है तो वैसे वाहन चालको के विरुद्ध कठोर से कठोर कार्रवाई की जाय। बैठक में उपविकास आयुक्त द्वारा जिला परिवहन पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में जितने भी स्टेक होल्डर यथा-बस एसोसिएशन, ऑटो एसोसिएशन, ट्रैकर एसोसिएशन, शोरूम संचालक, पेट्रोल पंप संचालक हैं उन सभी को बैठक सम्मिलित किया जाय, ताकि सड़क सुरक्षा से संबंधित नियमो की जानकारी उन्हें देते हुए इसे और भी प्रभावी ढंग से लागू कराया जा सके।
*बैठक में उपरोक्त के अलावे* जिला परिवहन पदाधिकारी फिलबीयूस बारला, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी रवि कुमार,पुलीस उपाधीक्षक (यातायात)  मधु कच्छप, जिला शिक्षा पदाधिकारी माधुरी कुमारी, जिला शिक्षा अधीक्षक  वीणा कुमारी, कार्यपालक अभियन्ता पथ प्रमण्डल, आई0टी0 मैनेजर रविश कुमार, नीलेश कुमार, आशीष कुमार आदि उपस्थित थे।

No comments