क्वॉरेंटाइन सेंटर का समय-समय पर निरीक्षण करते हुए सुविधाओं का रखें सुदृढ उपायुक्त


उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी  नैन्सी सहाय की अध्यक्षता में आज समाहरणालय सभागार में प्रवासी श्रमिकों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ने व रोजगार मुहैया कराने संबंधी बैठक का आयोजन किया गया।
बैठक के दौरान उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गयी कि देवघर जिला अंतर्गत आये सभी प्रवासी श्रमिकों को हर संभव सुविधा मुहैया कराने हेतु जिला प्रशासन द्वारा प्रयास किया जा रहा है एवं उन्हें खाद्य सामग्री आपूर्ति संबंधी कोई समस्या उत्पन्न न हो, इसके लिए सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को दो-दो लाख रूपये की राशि उपलब्ध करायी गयी है। इस राशि का उपयोग सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में आयें प्रवासी श्रमिकों को राशन किट उपलब्ध कराने हेतु करेंगे। इसके अलावा उपायुक्त द्वारा जिला आपूर्ति पदाधिकारी को निदेशित किया गया कि उनके द्वारा सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी के साथ समन्वय स्थापित करते हुए देवघर जिला अंतर्गत आने वाले सभी प्रवासी श्रमिकों की सूची अविलंब तैयार कराते हुए प्राथमिकता के आधार पर सभी को राशन कार्ड उपलब्ध कराया जाय। साथ ही उपायुक्त ने सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को निदेशित किया कि उनके द्वारा प्रवासी श्रमिकों को राशन किट उपलब्ध कराने हेतु खाद्य समाग्रियों का क्रय जिला स्तर पर सामग्रियों के निर्धारित मूल्य के अनुसार हीं की जाय।
इसके अलावा उपायुक्त द्वारा निदेशित किया गया कि प्रवासी श्रमिक दाल-भात केन्द्र एवं खोले गए अन्य निःशुल्क दाल-भात केन्द्र का आगामी 30 जून तक संचालन किया जाय। तत्पश्चात उपायुक्त द्वारा आत्मनिर्भर भारत की जानकारी देते हुए सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को निदेशित किया गया  कि इस हेतु गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्राप्त निर्देशों के आलोक में योग्य लाभुकों की सूची तैयार करा लें, ताकि सभी जरूरतमंदों को आवश्यकतानुसार सहायता प्रदान की जा सके। उन्होंने आगे कहा कि इस हेतु बाजार एप्प के माध्यम से यहां आयें प्रवासी श्रमिकों का निबंधन किया जाना है, जिसके तहत प्रवासी श्रमिकों के आधार नंबर के माध्यम से बाजार एप्प में उन्हें निबंधित किया जायेगा। निबंधन के उपरांत सभी को पीडीएस डीलर केे माध्यम से अनाज उपलब्ध कराया जायेगा।
तत्पश्चात उपायुक्त द्वारा क्वारंटाईन सेंटरों में मुहैया कराये जा रहे विभिन्न सुविधाओं आदि के बारे में समीक्षा करते हुए संबंधित नोडल पदाधिकारी को निदेशित किया गया कि सभी संबंधित अधिकारी क्वारंटाइन सेंटरों का समय-समय पर निरीक्षण करते रहे एवं वहां रहने वाले लोगों को मिल रहे मुलभूत सुविधाओं का जायजा लेते रहे एवं इस बात का विशेष ध्यान रखे कि क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले लोगों को किसी प्रकार की कोई समस्या न हो। साथ ही क्वारंटाइन सेंटर में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखते हुए वहां रहने वाले लोगों को कोरोना संक्रमण से लड़ने हेतु प्रेरित करें।
उपायुक्त द्वारा आगेे सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को निदेशित किया गया कि क्वारंटाइन सेंटरों के लिए किसी भी तरह की कोई सामग्री की आवश्यकता हो तो अविलंब इसकी सूचना जिला के संबंधित अधिकारियों को दें। इसके अलावा संबंधित प्रखण्ड विकास पदाधिकारी द्वारा समय समय पर संबंधित थाना के साथ समन्वय स्थापित करते हुए रात्रि में क्वारंटाइन सेंटरों का भ्रमण कर वहां के वस्तुस्थिति से अवगत होते रहंे। इसके अलावा उपायुक्त
द्वारा कहा गया कि देवघर जिला अंतर्गत आये प्रवासी श्रमिकों को रोजगार मुहैया कराने हेतु जिला प्रशासन द्वारा हर संभव प्रयास किया जा रहा है एवं इस हेतु यहां आये सभी प्रवासी श्रमिकों का निबंधन कराने से लेेकर मनरेगा के तहत 250 कार्य दिवस का कार्य उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए बिरसा हरित ग्राम योजना के तहत 726 योजनाओं का चयन किया गया है।
साथ हीं उपायुक्त द्वारा स्वामी विवेकानंद पेंशन योजना की समीक्षा करते हुए सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि वैसे दिव्यांग जिनका आवेदन स्वीकृत हो गया था परंतु किसी कारणवश संबंधित डाटा पोर्टल पर अपलोड नहीं हो पाया था, उन सभी का जिला समाज कल्याण कार्यालय से डाटा प्राप्त कर पोर्टल पर अपलोड कराना सुनिश्चित करें।
इस दौरान उप विकास आयुक्त  शैलेन्द्र कुमार लाल द्वारा सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को निदेशित किया गया कि मनरेगा व प्रधानमंत्री आवास योजना के सारे कार्यों का लगातार निरीक्षण करते रहे एवं अपने अपने क्षेत्रों का भ्रमण कर वहां रहने वाले लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क का उपयोग करने हेतु उन्हें प्रेरित करें। 
*बैठक में उपरोक्त के अलावे* उप विकास आयुक्त  शैलेन्द्र कुमार लाल, अनुमंडल पदाधिकारी, देवघर  विशाल सागर, अनुमंडल पदाधिकारी, मधुपुर  योगेन्द्र प्रसाद, प्रशिक्षु आईएएस रवि आनंद, संदीप कुमार मीना, डीआरडीए निदेशक श्री नयनतारा केरकेट्टा, जिला आपूर्ति पदाधिकारी विशालदीप खलखो, आपद प्रबंधन पदाधिकारी  राजीव कुमार, विभिन्न प्रखंडो के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, परियोजना पदाधिकारी, ई-डिस्ट्रीक मैनेजर व संबंधित अधिकारी आदि उपस्थित थें।

No comments