दाल भात केंद्र, दीदी किचन व कम्युनिटी किचन के माध्यम से पूरे जिले में निशुल्क भोजन की व्यवस्था


देवघर ब्यूरो रिपोर्ट।उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  नैंसी सहाय के निर्देशानुसार निशुल्क मुख्यमंत्री चलंत भोजनालय के माध्यम से कुष्ट आश्रम काॅलोनी अंतर्गत निवास करने वाले असहाय, गरीब परिवारों को आज पौष्टिक आहार के रूप में अंडा कड़ी व चावल का भोजन कराया गया।
इस दौरान पूर्ण रूप से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए चलंत भोजनालय के माध्यम से घर-घर जाकर लोगों के बीच भोजन का वितरण किया गया।
इस संदर्भ में उपायुक्त  नैन्सी सहाय द्वारा जानकारी दी गयी कि जैसा कि हम सभी जानते हैं कि वर्तमान में लॉक डाउन के वजह हम सभी प्रभावित हो रहे हैं, ऐसे में जिला प्रशासन द्वारा लगातार कुछ बेहतर करने का प्रयास किया जा रहा है। इसी क्रम में आज पौष्टिक भोजन के माध्यम से लोगों चेहरे पर मुस्कान लाने हेतु यह छोटी सी पहल की गयी। उन्होंने आगे कहा कि समय-समय पर आगे भी लगातर मुख्य मंत्री निःशुल्क चलंत भोजनालय के माध्यम से इस प्रकार की व्यवस्था की जाएगी और हमारा प्रयास होगा कि इससे अधिक से अधिक लोग लाभान्वित हों।
इसके अलावे उपायुक्त ने कहा कि सभी को भरपेट भोजन उपलब्ध कराना जिला प्रशासन की प्राथमिकता है। हमारा यह प्रयास है कि जिले में एक भी व्यक्ति भूखा न सोये। इस हेतु झारखण्ड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी के माध्यम से सभी पंचायतो में निःशुल्क दीदी किचन का भी संचालन किया जा रहा है एवं इन केन्द्रों के माध्यम से प्रतिदिन हजारों अनाथ, बेसहारा, दिव्यांग, वृद्धजन, गरीब एवं राहगीरों को  निःशुल्क भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। साथ ही इन सभी केंद्रों पर भोजन वितरण के दौरान स्वच्छता व सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से अनुपालन किया जा रहा है एवं भोजन वितरण के दौरान लोगों के बीच कम से कम 3 फीट की दूरी निर्धारित कर उन्हें भोजन कराया जा रहा है, ताकि वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।
 भोजन के पश्चात मास्क का किया गया वितरण....*
इस दौरान कुष्ट आश्रम कॉलोनी में रह रहे परिवारों के बीच लाॅक प्रेरणा समाधान द्वारा मास्क का भी वितरण किया गया।

No comments