सारवां तथा सोनारायठाढ़ी प्रखंड के सभी कोरंटाईन सेंटरों पर स्थानीय विधायक-सह- मंत्री बादल पत्रलेख के द्वारा सूखा नाश्ता तथा साबुन पहूंचाया जा रहा


सारवां:कोविड-19 के वजह से दूसरे राज्य में फंसे मजदूरों का झारखंड सरकार के प्रयास से घर लाया जा रहा है। वहीं महामारी से बचने के लिए जिला प्रशासन द्वारा लाए जा रहे प्रवासी मजदूरों को कोरंटाईन भी कराया जा रहा है। प्रवासी श्रमिक भी जागरूक होकर अपने आप को पंचायत अथवा प्रखंड के सरकारी भवन में  अपने आप को कोरंटाईन रह कर, इस बीमारी से सबों को सुरक्षित रखने का कार्य कर रहे हैं। ऐसे में कोरंटाईन में रह रहे दोनोँ प्रखंडों के करीब एक हजार प्रवासी मजदूरों को नाश्ता के लिए सारवां तथा सोनारायठाढ़ी प्रखंड के सभी कोरंटाईन सेंटरों पर  स्थानीय विधायक-सह- मंत्री बादल पत्रलेख के द्वारा सूखा नाश्ता तथा साबुन पहूंचाया जा रहा है। इस कार्य का शुभारंभ आज देवघर जिला के जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय ने अपने साथियों के साथ किया । सर्वप्रथम सारवां प्रखंड के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में करीब 60 लोगों को सूखा नाश्ता का पैकेट एवं साबुन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सारवां के प्रभारी  चिकित्सा पदाधिकारी के हाथों दिया गया। इसके पश्चात डहुआ, भंडारों एवं कुशमाहा पंचायत के विभिन्न कोरंटाईन सेंटरों में करीब दो सौ  पैकेट नाश्ता व साबुन का वितरण किया गया। शेष क्षेत्रों में नाश्ता का पैकेट वितरण हेतु तैयार किया जा रहा है। जिसे अगले दिन भेजी जाएगी। इस मोके पर जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय ने कहा कि क्षेत्र के मंत्री बादल पत्रलेख पूरे राज्य के साथ अपने विधानसभा क्षेत्र  में इस महामारी से बचने के लिए तथा लोक डाउन से उत्पन्न समस्याओं के समाधान के लिए सतत प्रयास में लगे हुए हैं एवं प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने के लिए कार्य योजना बना रहे हैं। क्षेत्र की किसी भी जनता को हर समस्याओं से निजात दिलाने के लिए मंत्री काफी गंभीर है। खाद्य समाग्री वितरण के दरमियान जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय के साथ अजय कुमार, मिडिया प्रभारी दिनेश मंडल, दिवाकर पासवान,राकेश यादव,अर्जुन हाजरा, कुलदीप बर्मा आदि मौजूद थे।

No comments