डाँ0 रामविलास शर्मा पुण्यतिथि माल्यार्पण कर से उन्हें किया गया याद



मधुपुर स्थानीय राहुल अध्ययन केन्द्र में हिन्दी पत्रकारिता दिवस व प्रसिद्ध समीक्षक व साहित्यकार डाँ0 रामविलास शर्मा पुण्यतिथि पर याद किय गये!  डाँ0शर्मा की तस्वीर पर माल्यार्पण कर साधारण तरीके से उन्हें याद किया गया! मौके पर जलेस के प्रांतीय सह सचिव धनंजय प्रसाद ने उद्गार व्यक्त करते करते हुए कहा कि आधुनिक हिन्दी साहित्य के सुप्रसिद्ध आलोचक , निबंधकार , विचारक , कवि व हिन्दी पत्रकारिता के सबसे बड़े हिमायती थे डाँ0 रामविलास शर्मा नें कहा कि आज ही के दिन हिन्दी का पहला समाचार पत्र प्रकाशित हुआ था!  तब से आज तक हिन्दी पत्रकारिता एक लम्बा सफर तय किया है! आज के सुचना क्रांति के दौर में लोकतंत्र पत्रकारिता की भूमिका एवं दायित्व बढ़ी है!  लोकतंत्र में मीडिया की अहम भूमिका है । आज सही मायने में पत्रकारिकता की भूमिका लघु पत्र - पत्रिकाऐं निभा रहे है! वर्तमान समय में सत्ता व काँरपोरट घरानों द्वारा मीडिया का संचालन हो रहा है! इसलिए सच्चे मीडियाकर्मी चाहकर भी स्वतंत्र , निष्पक्ष व जनपक्षीय भूमिका अदा नहीं कर पाते है । आज अधिकांश लोग सत्ता का भौपू , वर्त्तमान व्यवस्था का चारण बनकर रह गये है , जो लोकतंत्र के लिए खतरनाक है!आज ज्यादात्तर मीडियाकर्मी संघर्ष कर रहे है और असुरक्षित महसुस कर रहे है!  इसके आलाव कई मीडियाकर्मी आन लाइन अपने विचार व्यक्त किये

-:मोहम्मद असलम, मधुपुर 


No comments